समर्थक

सोमवार, 6 अगस्त 2012

संगममु (संगम)

संगममु
('संगम' का तेलुगु अनुवाद )
              हिंदी मूल -  डॉ. ऋषभ देव शर्मा   * तेलुगु अनुवाद -  डॉ. भागवतुल हेमलता 


पदम पदम कलुपुकुनी 
पद पद पयनिद्दामनी
पालू नीरू 
चंदंगा नेडु मनम कलवालनी 
नीवन्ना  आ समयम  गुरुतुकोस्तुन्नदी
कलिसामाक्षणम मनम गंगा -यमुनलतो 
प्रवहिंचामोक पायगा  मुंदुमुंदु करुगुतू. 

येर्रनी नी पगड़ा कांति 
ना कंठपु नीलम तो 
करिगिन आ  शुभ क्षणान
विस्तरींचिन विनीलाकासम
दिगोच्चिनदी मनलोपलिकि
चेरम  घड़ियन मनमु 
घोषिंचे  समुद्रम लोकि

लोलोतुलु  वेतुकूतू
समुद्रम  लो समसामु
प्रवहिंचे पाय काका 
नीरधि लो नीरय्यामु 
नामम  गोत्रम लेदु 
गात्रम गट्टू लेदु 
इटुचूडू अटुचूडू
एटुचूसिना नीटी मयम 
नीरधि लो नीरू मनम 
नीरय्याम नीरधिलो 

इल्लु लेनी ओल्लु लेनी 
नीरधि ओ नीरू मनम 
नीवु लेवु नेनु लेनु
नीरधि लो नीरू मनम 
नीरधि लो नीरय्याम 

संगम

याद आता है समय 
तुमने कहा जब 
लो, चलो, हम आज मिलते हैं 
दो पानियों जैसे, 


और हम तुम मिल गए 
गंगो-जमन से; 
एक धारा बन गए थे। 

घुल गया 
तुम्हारे गौर वर्ण में 
मेरे कंठ का सारा नीलापन, 
उतर आया 
हमारे भीतर आकाश का विस्तार 
और समा गया 
समुद्र की गहराई में। 

अब हम धारा नहीं रहे थे, 
समुद्र थे – 
पानी ही पानी, 
नाम-गोत्र से हीन पानी; 
न घट, न तट – 
बस पानी ही पानी, 

न देह, न गेह – 
बस पानी ही पानी, 
न तुम, न मैं, 
पानी ही पानी !


कोई टिप्पणी नहीं: