समर्थक

रविवार, 20 दिसंबर 2009

समय

समय


कहते हैं, कभी अर्जुन ने

कृष्ण का विराट रूप देखकर

पूछा था आश्चर्य से-

कौन हो तुम? तुम कौन हो?


कृष्ण ने मुस्करा कर कहा था-

मैं समय हूँ, पार्थ! मैं काल हूँ!


जो था, जो है, जो होगा

सब समय है, सब ईश्वर है।

वह साथ हो

तो अर्जुन जीत जाता है महाभारत।

वह साथ न हो तो

अर्जुन- वही अर्जुन-

हार जाता है साधारण भीलों से.


हे समय!

तू सचमुच बलवान है।

तुझे प्रणाम।


कोई टिप्पणी नहीं: